App Info, Application Details, Mobile Apps, New Applications, New Software, IT information, New Mobile Application Info.

शनिवार, 5 दिसंबर 2020

Sim Swap Fraud Se Kaise Bache?

 

Sim Swap Fraud
Sim Swap

Sim Swap Fraud :


     हेलो दोस्तों, आज आपको Sim Swap के बारे में बताना चाहूंगा। इसके बारे आपको पता ही होगा की Sim Swap होता क्या है...? और कैसे किया जा सकता है...? लेकिन इससे होने वाले फ्रॉड के बारे में आपको माहिती देना चाहूंगा की किस तरह फ्रॉड व्यक्ति Sim Swap से आपको धोखा दे सकता है...? और इससे कैसे बचा जा सकता है...?

 

     तो चलिए पहले Sim Swap क्या है…? उसके बारे में जानते है।

 

     तो दोस्तों Sim Swap का मतलब अभी आपके पास जो कोई भी सिम कार्ड है चाहे वह Airtel हो, Vodafone का हो या फिर कोई अन्य सर्विस प्रोवाइडर का सिम आप इस्तेमाल कर रहे होते है, और उस सिम कार्ड को किसी कारण से बंध या ब्लॉक करके आप नया सिम वही नंबर से लेना चाहते हो तो हम उसे आसान भाषा में Sim Swap कहते है।

 

Sim Swap से कैसे फ्रॉड होता है...?

 

     तो दोस्तों यहाँ पर हैकर यही तरीके का इस्तेमाल करता है, और वह आप जो भी अभी सिम कार्ड इस्तेमाल कर रहे होते है, उसे फ्रॉड व्यक्ति ब्लॉक करवा लेता है, या फिर बंध करवा लेता है, और उसके बाद फ्रॉड व्यक्ति आपके नंबर का नया सिम ले लेता है, जिस वजह से फ्रॉड करने वाले व्यक्ति के पास सभी कण्ट्रोल आपके आ जाते है, मतलब के आपके फोन पर कोई भी कॉल आएगा, कोई भी OTP आएगा तो सीधे नए सिम कार्ड में आएगा, यानि के फ्रॉड व्यक्ति के पास जाएगा, इससे वह आसानी से आपके सभी बैंक अकाउंट को चुटकीओ में साफ कर सकता है। और आपको पता भी नहीं चलेगा की मेरा सभी पैसा बैंक से गायब हो गया। क्योंकि, आपका जो नंबर है वह फ्रॉड व्यक्ति ने बंध करा लिया है. आप तभी कुछ नहीं कर पाएंगे और जब आपको मालूम होगा तब बहुत देरी हो गयी होगी।


UPI से होने वाले धोखे से कैसे बचे ? यह भी जानिए

 

     तो दोस्तों, फ्रॉड व्यक्ति पहले आपकी सभी पर्सनल माहिती किसी तरह जान लेता है फिर बाद में आपका सिम ब्लॉक करवा कर आपके नंबर से नया सिम खरीद कर इस्तेमाल करने लगता है।

 

     यह फ्रॉड करने वाले व्यक्ति हमारे ही नंबर से किस तरह वह नया सिम खरीद सकता है…? उसके बारे में जानते है.

 

     तो दोस्तों, इसमें यह होता है, की इसके लिए वह कई सारे तकनीक या तरीके का इस्तेमाल करता है, जैसेकि मोबाइल नंबर पोर्टिब्लिटी, फोन कॉल की मदद से, या फिर किसी भी तरह की हैकिंग टेक्निक की वजह से कर सकता है, Sim Swap की प्रक्रिया में सबसे पहले आपकी पर्सनल माहिती को निकालने की कोशिश करता है, जैसे की आपका सम्पूर्ण नाम क्या है...?, आपका असल में मोबाइल नंबर कोनसा है...? जो सभी बैंक अकाउंट से लिंक है, आपका बैंक में रजिस्टर ईमेल, आधार कार्ड नंबर और इसके आलावा बैंकिंग डिटेल्स आदि-आदि महत्वपूर्ण माहिती फ्रॉड व्यक्ति जान लेता है।

 

     तो फ्रॉड व्यक्ति आपके सोशियल मिडिया से डिटेल्स जान सकता है, या फिर फ्रॉड व्यक्ति ने आपके फोन या कंप्यूटर सिस्टम में किसी प्रकार का एप्लीकेशन इनस्टॉल कर रखा है तो वही से सभी माहिती जान सकता है, इसके अलावा काफी सारे तरीके होते है जिससे वह आपके नंबर से नए सिम खरीदने के लिए जो आपका पर्सनल प्रूफ चाहिए होता है. वह आपसे किसी तरह ले लिया हो तो फ्रॉड व्यक्ति आपके नाम से डुबलीकेट प्रूफ भी बना कर आपके साथ धोखा कर सकता है।

 

     तो इस तरह से आपकी माहिती जानने के बाद आप अभी जो सिम कार्ड इस्तेमाल कर रहे होते है फ्रॉड व्यक्ति उसे आपके सर्विस प्रोवाइडर कंपनी में कॉल करके कहता है की मेरा मोबाइल चोरी हो गया है, ऐसा कोई भी कारण बता कर आपके सिम को ब्लॉक करवा लेता है, और नया उसने डुबलीकेट आपका पहचान प्रूफ जोड़ कर नया सिम कार्ड ले कर वह इस्तेमाल करने लग जाता है। तो इस तरह से आपके साथ धोखा कर सकता है।

 

e-SIM धोखे से कैसे बचे...? यह भी जानिए.


     इसके आलावा फ्रॉड व्यक्ति हो सकता है की एक कस्टमर केर वाला बन कर आपके पास से सभी माहिती जान लेता है. वह ऐसे बाते करेगा की आपको लगेगा, की यह हमारे सर्विस प्रोवाइडर, बैंक मैनेजर, या कोई कंपनी का कस्टमर केर वाला ही बोल रहा है। तो यह समझ कर आप उसे अपनी सभी माहिती दे देते है। तो यहाँ पर फ्रॉड व्यक्ति बोलता है की आपके अकाउंट को अपडेट करने के लिए आपके फोन नंबर पर एक OTP आएगा वह OTP मुझे बताइएगा. इस तरह से आपको कन्विंस कर लेता है और आप OTP बता देते है एक बार उस फ्रॉड व्यक्ति के पास आपका OTP चला गया तो आप बड़ी मुश्केली में फंस जाते है।

 

Sim Swap से होने वाले धोखे से बचने का तरीका :


  1. तो दोस्तों, इसके लिए आपको कभी भी किसी अनजान आदमी को छोटी से छोटी माहिती भी ना दे, और फोन पर तो कभी भी किसी को आपके पर्सनल प्रूफ ना भेजे, और बताना भी नहीं है. क्या पता आप फोटो व्हाट्सएप करते हो तो उसमे एडिट करके नया डुबलीकेट बनवा ले...? इस लिए किसी को ना भेजे और ना ही बताए।                                                                                                                                           
  2. आपको किसी भी पर्सनल माहिती को सोशियल मिडिया के प्रोफइल में रजिस्टर नहीं करनी है।                                 
  3. किसी का भी कॉल आये चाहे वह हमारे देश के राष्ट्रपति जी का कॉल आपके ऊपर क्यों ना आजाए लेकिन आपको अपनी किसी भी प्रकार की पर्सनल माहिती देनी नहीं है।                                                                   
  4. बैंकिंग डिटेल्स भी किसी कॉल पर या हमारे सामने भी खड़ा क्यों ना हो किसी अनजान व्यक्ति को नहीं बतानी चाहिए।                                                                                                                                          
  5. अगर आपके नंबर पर तथा ईमेल पर किसी तरह की लिंक को प्रेस या क्लिक करने को कहते है, तो भी ना करे उसे तुरंत डिलीट कर दे, और किसी भी तरह के स्टेप्स का अनुसरण ना करे, वही पर किसी भी तरह की माहिती ना बताए। अगर आपको लगता है की क्लिक करके तो देखु क्या आता है में देखु तो सही, तो दोस्तों इसमें यह भी हो सकता ही की अगर आप उस लिंक पर क्लिक करते हो तो आपके सिस्टम या फोन में एक वायरस घुस कर आपके सिस्टम को अटका सकता है तथा पीछे से कोई एप्लीकेशन इंस्टाल करके आपका मोबाइल या सिस्टम ऑपरेट करने लगे। और आपको पता भी नहीं चलेगा। इसलिए कोई जोखम नहीं उठाना चाहिए सिर्फ उस मेसेज को डिलीट कर दे।                                                                               
  6. किसी भी अनजानी वेबसाइट में अपनी किसी भी प्रकार की पर्सनल माहिती भरनी नहीं चाहिए। या फिर कोई ऐसा एप्लीकेशन जो किसी भी प्रकार से अविश्वसनीय होती है, उसमे किसी भी प्रकार की पर्सनल माहिती नहीं भरनी चाहिए।                                                                                                                    
  7. अगर आपको किसी भी तरह का कॉल आता है जैसे की, सिम कार्ड पोर्टेब्लिटी करवाना, अकाउंट उपडेट करवाना तो आप उसे किसी भी तरह की पर्सनल माहिती ना दे, आप सीधे-सीधे उसके स्टोर चले जाए या आप के नजदीक की किसी बैंक शाखा में आप खुद जा कर तलाश करे। लेकिन आपको मोबाइल फोन से या कंप्यूटर से किसी को भी किसी भी प्रकार की माहिती नहीं भेजनी है। 

 

Sim Swap Conclusion :


     तो दोस्तों, उम्मीद रखता हूँ की, इस Sim Swap Fraud में कैसे फंस सकते है...? उसकी जानकारी से आप समझ गए होंगे, और यह जानकारी से आप जागृत होंगे और सुरक्षित रहेंगे और दुसरो को भी सुरक्षित रखने के लिए प्रेरित करेंगे।

 

     जय हिन्द... जय भारत...

 

     आपका धन्यवाद...।🙏🙏

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Please do not enter any spam link in the comment box.